अबयज़ ख़ान
चलिए नए साल पर एक खुशख़बरी उन मर्दों के लिए जो शादी के बाद भी पति-पत्नी और वो के चक्कर से निकले नहीं हैं... और खुशख़बरी उनकी पत्नियों के लिए भी जो अपने दिलफेंक मियां से आजिज़ आ चुकी थीं... घबराइये मत... जो काम आपके पति कर रहे हैं वो उनकी ज़िंदगी में तो रंग भर ही रहा है, आपकी शादी-शुदा ज़िंदगी में भी उससे बहार आ जाएगी... अरे ऐसा मैं नहीं कह रहा हूं... बल्कि ये नया राग तो अंग्रेज़ों की देन है... और वो भी कोई अंग्रेज़ पुरुष नहीं, बल्कि एक फिरंगी महिला... फ्रांस की मशहूर साइक्लोजिस्ट मैरसी वैलेंट कहती हैं, कि अगर आपके पति परमेश्वर किसी दूसरी मोहतरमा से आंख लड़ा रहे हैं, तो उनके पीछे चाकू लेकर भागने की ज़रूरत नहीं है, बल्कि अब तो आपको खुश होना चाहिए... और अगर उनकी ज़िंदगी में कोई वो है, तो घबराइये मत, क्योंकि इससे आप दोनों के रिश्तों में गर्मी आने के बजाए नरमी आएगी... और ज़िंदगी पहले से ज्यादा बेहतर हो जाएगी... आपको यकीन न हो, तो अंग्रेज़ी की ये चार लाइने भी पढ़ लीजिए... पूरा माजरा समझ में आ जाएगा...

If your husband is enjoying a secret rendezvous with another women, don't run after him with a knife, for the extra-marital affair is a sign that your marriage is a healthy one.
That's the claim of France''s most prominent female psychologist Maryse Vaillant in controversial new book on the effects of infidelity on married life, Men, Love, Fidelity, reports The Telegraph.

मैडम मैरसी के मुताबिक इसे बेवफ़ाई भी नहीं माना जा सकता... और अगर आपके पति इस तरह के रिश्तों में भरोसा रखते हैं, तो उन्हें अकेला छोड़ दीजिए, क्योंकि कुछ दिन बाद वो इसे खुद ही छोड़ देंगे... पता नहीं फ्रांस की इन साइक्लोजिस्ट मैडम का दावा कितना सही है, लेकिन इतना तो तय है कि इसे पढ़ने के बाद टाइगर वुड की पत्नी पर क्या बीत रही होगी, इसका अंदाज़ा आप खुद ही लगा लीजिए... और टाइगर वुड का तो पूछिए ही मत, पांचो उंगलियां तो पहले ही घी में थीं, अब सर भी कढ़ाही में है... वो तो पति-पत्नी और वो से भी आगे बढ़ चुके थे... वो-वो करते-करते उनकी तो 18 वो हो गईं थीं, गजब मैनेजमेंट है भाई... वाह भई वाह... चलो टाइगर वुड्स के अलावा किसी और को भी राहत मिली... हमारे यहां भी एक नेताजी हैं... बड़े रंगीले.. बड़े रंगीन मिजाज़.. कौन नहीं जानता, उनके बारे में... कितना नाम छपा उनका अख़बारों में, कितनी बार बेचारे टीवी पर आए... इसको कहते हैं न हींग लगी न फिटकरी और रंग चोखा हो गया...उम्र भले ही पचपन की थी, लेकिन मन बेचारा जवानी का ही था...

आखिर दिल पर किसका बस चलता है.. दिल तो बेचारा है... प्यार का मारा है... डर लगता है तन्हा सोने में जी.. दिल तो बच्चा है जी, थोड़ा कच्चा है जी... फ्रांस की मोहतरमा मैरसी की किताब तो मार्केट में आने के बाद ही कोहराम मचा रही है... अंग्रेज़ तो उनकी इस थ्योरी को शायद इसको हज़म भी कर जाएं.. क्योंकि विदेशों में तो ये सब वैसे भी चलता है.. लेकिन अपने हिंदुस्तान के घरों में ज़रूर पड़ोस के घर से बेलन चलने की आवाज़े सुनाई पड़ने लगेंगी... ज़रा एक बार को मान लीजिए कि ये थ्योरी अपरूव्ड हो गई तो क्या होगा...खुदा की कसम कयामत हो जाएगी... पति-पत्नी और वो के किस्से हर मुहल्ले से सुनाई पड़ने लगेंगे...ज़रा रिश्तों में खटास आई नहीं, कि मश्विरे देने वालों की कतार लग जाएगी... कोई कहेगा मेरा ख्याल है, तुम अपने पति की किसी से सैटिंग करवा दो, फिर देखना कैसे तुम्हारे पति तुम्हारी उंगलियों पर नहीं नाचते हैं... मेरे पति की तो कई सैटिंग्स हैं, मुझे तो कोई फर्क नहीं पड़ता... वो तो मेरे एक इशारे पर चलते हैं... टोने-टोटको में एक नया टोटका ये भी शामिल हो जाएगा...वाह जी वाह, क्या थ्योरी है...रिश्ते फिर से बहाल करने के लिए।
16 Responses
  1. मज़ा आ गया..
    फायदेमंद आइडिया है


  2. मस्त लिखा...पर लिखने तक ही रुके रहिएगा. बाकी कुफ्र है...हा हा हा .
    चौराहा


  3. भाई मर्दों के लिये ये अच्छी खबर है पर महिलाओं का क्या,सोचो अगर कहीं उन्होने ने वही शुरु कर दिया जो
    मर्दों पर जायज़ है मैरसी के हिसाब से, तो......


  4. shweyrkumar Says:

    hihihihihi....gud writning....waise tumhara kya irada hai....shweta


  5. जिस शैली और उत्साह में आपने यह लिखा है, उससे तो यह अवश्य ही जाहिर होता है कि आप इसमें अपने लिए संभावनाएं देख रहे हैं। खैर, आप कुंवारे हैं, तो आपका यह अधिकार बनता है। लेकिन यह समाज के लिए खतरनाक है। आजकल की पत्नी बेलन नहीं मारती बल्कि लोगों के सामने आंख मारती है और बाद में। मत पूछो यार, इशारों को अगर समझो राज को राज रहने दो।


  6. जिस शैली और उत्साह में आपने यह लिखा है, उससे तो यह अवश्य ही जाहिर होता है कि आप इसमें अपने लिए संभावनाएं देख रहे हैं। खैर, आप कुंवारे हैं, तो आपका यह अधिकार बनता है। लेकिन यह समाज के लिए खतरनाक है। आजकल की पत्नी बेलन नहीं मारती बल्कि लोगों के सामने आंख मारती है और बाद में। मत पूछो यार, इशारों को अगर समझो राज को राज रहने दो।


  7. बाबाओं की बांछें खिल गईं


  8. भारत की पृष्ठ भूमि में अंतत: गलत है जी


  9. chhavi Says:

    very gud ...its your one of the best story in this blog


  10. बढ़िया खबर लाये हो खान !कुछ पुरुष दिल से दुआएं मांगेंगे कि उनकी बीवियां यह खबर जरूर पढ़े !
    शुभकामनायें !!


  11. भई.... मैं तो अभी कुंवारा हूँ.... हे हे हे हे हे ...


  12. अभी स‌ोच रहा हूं...


  13. ha ha ha ha ,maza aa gya,par kya karen dil to bachha hai ji...


  14. वाह जी वाह... बहुत ही गज़ब लिखते हो.
    पढ़ने में मज़ा आया मैंने आप जैसे हिन्दी ब्लोग बहुत ही कम देखे हैं आजकल खासकर लोग ब्लोग को कंजूसी में सुनने सुनाने की जगह मान रहे हैं लेकिन अगर देखा जाए तो ये हिन्दी समाज बहुत ही गहरा है बस बढ़ावे की जरूरत है।
    मेरी शुभकामनाऐं


  15. ऐसे ही बुड्ढों की तारीफें करते रहे तो बहुत आगे जाओगे ! होनहार बच्चा !

    शुभकामनायें